Saint MSG

देश हित को समर्पित 3 नए मानवता भलाई के कार्य; करोड़ों अनुयायियों ने लिया प्रण, देश का करेंगे सम्मान

Saint MSG

प्राचीन काल से ही भारत अध्यात्म और रूहानियत की भूमि रहा है। भारत वर्ष में ही संतों, पीर, पैगम्बरों ने अवतार लिया और पवित्र वेदों और धर्मों को लिखा, जिनके द्वारा समस्त मानवता को आगे बढ़ने का मार्ग और जीवन जीने की सही राह मिली।

लेकिन पश्चिमी संस्कृति की नकल करने के चक्कर में कहीं न कहीं हमारी संस्कृति फीकी पड़ गई है। हमें याद दिलाने और सिखाने की जरूरत है कि वास्तव में एक सार्थक, विनम्र और आनंदमय जीवन जीने का क्या मतलब है और कैसे हमारे धर्म महा विज्ञान हैं।

17 जून को शुरू हुई 30 दिनों की पैरोल में संत डॉ गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने मानव कल्याण के लिए हर पल समर्पित किया और राष्ट्र की भव्यता, वैभव और सम्मान के लिए प्रमुख मुहिमों की शुरूआत की।

देश का सम्मान करना और हर घर में राष्ट्रीय ध्वज फहराना

Indian Flag MSG

एक महान देशभक्त और राष्ट्र प्रेमी, संत डॉ गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां का सत्संग का कार्यक्रम दुनिया भर में करोड़ों लोगों ने इंटरनेट के माध्यम से लाइव देखा। गुरुजी ने लाइव कार्यक्रम देख रहे अपने करोड़ों अनुयायियों से देश की सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करने और उसका और सम्मान करने का आग्रह किया। गुरुजी ने उनसे राष्ट्र का सम्मान करने का भी आग्रह किया।

गुरुजी ने सभी से प्रण करने का आग्रह करते हुए फरमाया कि वे राष्ट्रीय ध्वज को घरों में ऐसे स्थान पर फहराएँ / रखें जहाँ वे इसे सम्मान और गर्व के साथ सलामी दे सकें व सदा राष्ट्रीय ध्वज का सम्मान करें।

लाखों लोगों ने ऐसा करने का संकल्प लिया और कई लोगों ने अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज स्थापित कर लिया है।

हमारे राष्ट्र को स्वच्छ बनाना; मोबाइल शौचालय स्थापित करना

MobileToilet

लंबे रूट एक्सप्रेसवे और हाईवे जैसे कई स्थान हैं, जहां एक साथ मीलों तक शौचालय की सुविधा नहीं है। अक्सर शहरों के पुराने बाजारों और अन्य इलाकों में भी इन सुविधाओं का अभाव होता है।

संत डॉ गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने अनुयायियों से ऐसे स्थानों पर मोबाइल शौचालय की स्थापना करने का आग्रह किया। गुरुजी ने यह भी आग्रह किया कि अनुयायियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि इन्हें साफ रखा जाए और इनका रख रखाव अच्छी तरह से किया जाए। ऐसा करने से रोजगार भी पैदा होगा।

गुरुजी के आह्वान पर लाखों हाथ उठे और इस महान पहल का पालन करने का संकल्प लिया गया।

गुरुजी ने कहा कि कोई भी हमारे देश को डर्टी इंडिया न कह सके। गुरुजी ने विदेशों में रहने वाले डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों से भी इस पहल का पालन करने का आग्रह किया, ताकि सभी को पता चले कि भारतीयों को स्वच्छता पसंद है।

उल्लेखनीय है कि इन मोबाइल शौचालयों को संत डॉ गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने स्वयं डिजाइन किया है।

बेजुबान प्राणियों की भूख को तृप्त करना, उन्हें रोज 1 रोटी खिलाना

Saint-Dr-MSG with cow

हमारे भारत की समृद्ध संस्कृति बांट कर खाना सिखाती है। हमारी संस्कृति में गाय को मां के रूप में माना जाता है, क्योंकि इसका दूध इंसानों का भी पालन पोषण करता है। प्रत्येक जीवन अनमोल है क्योंकि कुदरत के पारिस्थितिकी तंत्र में हर जीव का अपना महत्व है और हमारे धर्मों ने इस तथ्य को अनादि काल से मान्यता दी है। प्रकृति और हर जीव के संरक्षण से ही मनुष्य जीवन में खुशहाली आ सकती है।

संत डॉ गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां इन प्राणियों के लिए प्रतिदिन 1 रोटी पकाने की पहल शुरू करके हमारी सांस्कृतिक विरासत को पुनर्जीवित कर रहे हैं।
गुरुजी ने रोज़ 1 रोटी पका कर इस रोटी को गायों/पक्षियों/जानवरों या कीड़ों को खिलाने का आग्रह किया ताकि उनकी भी देखभाल की जा सके। हालांकि वे बोल नहीं सकते हैं, लेकिन उन्हें खिलाने से उनकी आत्मा से दुआएं निकलेंगी जिससे समृद्धि और खुशहाली आएगी।

लाखों डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों ने गुरुजी के एक ही आह्वान पर ऐसा करने का संकल्प लिया।

संत निःस्वार्थ प्रेम और मार्गदर्शन देते हैं

वास्तव में संतों का हृदय सभी प्राणियों के प्रति निस्वार्थ प्रेम से भरा होता है, उनकी हर सांस दूसरों की भलाई के लिए समर्पित होती है। इन महान पहलों को शुरू करने के लिए संत डॉ गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां को लाखों बार धन्यवाद, जो हमारी सांस्कृतिक विरासत को बचाने और देशभक्ति, राष्ट्र प्रेम और राष्ट्र के प्रति गर्व की भावनाओं का पुनर्जागृत कर रहे हैं।

यह एक नए युग की शुरुआत की तरह प्रतीत होता है, ऐसा युग जो हमारी संस्कृति को पुनर्जीवित करेगा और इस कलयुग में सतयुग की शुरूआत कर देगा। आइए हम सभी इन सभी भलाई कार्यों का पालन करने का संकल्प लें।

संत डॉ गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां का बहुत बहुत धन्यवाद, जो अपनी सांस्कृतिक विरासत को संजोने और हर जीव की संभाल करने के लिए हर कदम उठा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *