मेने अपनी आँखों से देखा है डेरा सच्चा सौदा में …

मेने अपनी आंखों से देखा है । डेरा सच्चा सौदा मैं सभी धर्मों के लोग आते हैं और वह अपने धर्मों के अनुसार पूजा अर्चना करते हैं । आने वाले सभी श्रद्धालु एक दूसरे का पूरी तरह सम्मान करते हैं । हमने देखा है की संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इंसां । सभी धर्मों का पूरी तरह से सम्मान करते हैं । वह हमेशा सत्संग में सभी धर्मों का सम्मान के साथ नाम लेते हैं । सभी धर्मों के प्रति एक समान दृष्टिकोण रखते हैं । मैंने उन्हें सत्संग के दरमियान हमेशा ही ओम, हरि , अल्लाह , वाहेगुरु , गॉड , खुदा, यह सभी नाम लेते सुना है।

पुष्टि के लिए आप भी उनके सत्संग यूट्यूब पर सुन सकते हैं । इन सब से यह साबित होता है कि गुरु जी सभी धर्मों को एक समान इज्जत देते हैं व दिल से मानते हैं । डेरा सच्चा सौदा में आने वाले सभी धर्मों के लोग एक साथ बैठते हैं । एक साथ रहते हैं और एक साथ बैठकर इबादत करते हैं ।

ऐसा नजारा मैंने डेरा सच्चा सौदा के अलावा कहीं भी नहीं देखा है । वहां पर आने वाले सभी लोगों के अंदर एक दूसरे के प्रति दिलों में बहुत प्यार होता है । आज भी डेरा सच्चा सौदा में सभी धर्मों के लोग आते हैं और अपने अपने धर्मों के हिसाब से आराधना करते हैं ।

सभी धर्मों के लोगों का इस तरह से प्यार होना आज के समय में बड़ा आश्चर्य है ।डेरा सच्चा सौदा के गुरु जी सभी धर्मों के लोगों को केवल और केवल इंसानियत की शिक्षा देखकर उन पर चलाते हैं ।

गुरु जी अपने सत्संग मे हमेशा ही आये हुए लोगों को दीन, दुखी , लाचार ,बेसहारा, अति जरूरतमंद लोगों की सहायता करने की प्रेरणा देते हैं और प्रेरणा के साथ-साथ अपने कर कमलों से यथासंभव उनकी मदद करते हुए हमने देखा है ।

उनका एक – एक शब्द इंसानियत के लिए दूसरों के भले के लिए यहां तक कि पूरी सृष्टि के भले के लिए होता है । उनके सत्संग में एक भी शब्द ऐसा नहीं होता जो अमर्यादित हो आज के समय में ये बहुत बड़ी बात है ।

Watch More :- Public Reaction about Dera Sacha sauda

जो लोग डेरा सच्चा सौदा के बारे में मनगढ़ंत झूठी अफवाह फैला रहे हैं । आप सभी से नम्र प्रार्थना है आप एक बार अपनी आंखों से और खुल्ले दिमाग से डेरा सच्चा सौदा सिरसा का भ्रमण जरूर करें उसके बाद आपको जो नजर आए उस पर अपने विचार रखो जी ।

🔥35

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *