Dera sacha sauda latest news

What is the meaning of word Insan

केवल ढाई अक्षरों से मिलकर बना शब्द है “इन्सां”

पर यदि आपने इस इन्सां शब्द के बारें जान लिया तो आपके हौश उड जाऐगें ऐसा क्या है इस इन्सां शब्द में

हर इन्सान को “इन्सां” क्यों नही कहा जा सकता..?

आपको भी ‘इन्सान’ और ‘इन्सां’ में फर्क महसूस होने लगेगा यदि आपने भी एक बार इन्सां शब्द के इस तथ्य को जान लिया

पृथ्वी पर हर जीव जाति को उनके अलग अलग नामों से जाना जाता है जीवो के ये नाम वैज्ञानिकों, आम समाज(दूनियाँदारी) और धर्मो के हिसाब से अलग अलग हो सकते है जैसे यदि मानव जाति की बात करे तो आदमी को हम मानव, इन्सान आदि और न जाने कितने ही नामों से जाना जाते है

What is the meaning of word insan

पर हम यहां बात कर रहे है “इन्सां” शब्द की
“इन्सां” शब्द को अच्छे से समझने के लिए यह भी जान ले की दूनियाँ में जब जब भी पाप बढे है तब तब ईश्वर ने मरती हुई इन्सानियत को जिन्दा रखने के लिए सन्त महापुरुषों को पृथ्वी पर भेजा है आज भी आदी सन्त महापुरुषों के नाम भारतीय इतिहास के पन्नों पर स्वर्ण अक्षरों में अकिंत है।
ये प्रथा युगों युगों से चली आ रही की जब जब भी कोई पूर्ण सन्त पृथ्वी पर आया है उसने नया इतिहास बनाया है।और यह पूर्ण सन्त की एक निशानी भी है

दूनियाँ के भले के लिए ही सन्तों ने अपना सारा जीवन लगा दिया और ये भी एक सत्य है की समय के सन्त की पहचान कोई कोई ही कर पाता है
एक बात और है कि दुनिया ने हमेशा ही सन्तों के ऊपर निराधार दोष भले ही मढे हों पर इतिहास गवाह है दुनिया जिन महापुरुषों और सन्तों का नाम आज अदब सत्कार से लेती है उनका इतिहास देखा जाएं तो दुनिया ने उन पर कितने ही अत्याचार किए है मगर सन्त जिस कार्य के लिए पृथ्वी पर आतें है उस कार्य को पूरा करके ही छोडते है। कहा भी जाता है

“सन्त वचन पलटे ना ही पलट जाए ब्रह्माण्ड”

Respect of all religion

“इन्सां” शब्द इस दुनिया में एक ऐसा शब्द है जो अपने आप में अद्भूत विशेषताएँ रखता है।
इन्सां शब्द डेरा सच्चा सौदा सिरसा हरियाणा भारत के प्रमुख सन्त गुरूमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां द्वारा दिया गया है जिन्हें Dr.MSG के नाम से भी जाना जाता है।

गुरू जी ने “इन्सां”शब्द क्यों दिया.? कब दिया.? और आखिर जरूरत क्या थी “इन्सां” शब्द की।

ये भी जान ले डेरा सच्चा सौदा सिरसा एक विश्व व्यापी सामाजिक संस्था है जो इन्सानियत के भले के लिए दिन रात लगी हुई है

सन् 1948 से लगातार डेरा द्वारा विभिन्न मानवता भलाई के कार्य को चलाकर विश्व भर में प्रसिद्धी प्राप्त की है यहाँ हर वो गलत आदतें छुड़ाई जाती है जिनसे मानव जाति समाज को हो रहे नुकसान से बचाया जा सके,नशा,हराम-खोरी, मांस मदीरा से समाज को बचाने के लिए, समाज में फैली कुरीतियों से निजात दिलाने के लिए, हम सब एक है हम सबका मालिक ईश्वर एक है ये बता के लिए जात पात का भेद मिटाने के लिए और मरती हुई इन्सानियत को फिर से जिन्दा करने के लिए Dr.MSG द्वारा जामा-ए-इन्सां गुरू का पिलाया जिसे पीकर इन्सान उन तमाम बूराई से तौबा कर लेता है जो मानव समाज के लिए नुकसान देने वाली हैं

और अपने नाम के बाद शर्मा, वर्मा आदि उपनाम के स्थान पर इन्सां लगाता है ताकी उसे हर दम हर पल यह ध्यान रहे की मै एक इन्सां हूँ और मेरा कार्य ईश्वर की बनाई खलकत की सेवा करना और सब को एक समझना है क्योंकि हर सब एक ही ईश्वर के बच्चे है।

🔥123

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *